जानिए ब्राह्मी के 16 चमत्कारी फायदे | how to use brahmi leaves in hindi | Know 16 miraculous benefits of Brahmi 


दोस्तों, Maliks Beauty Tips में आप लोगों का स्वागत है। दोस्तों आज हम how to use brahmi leaves in hindi, इसके बारे में बताने वाले है ,अंत तक जरूर पढ़े।


how to use brahmi leaves in hindi
how to use brahmi leaves in hindi


आयुर्वेद के अनुसार ब्राह्मी पित्तनाशक, बुद्धिवर्धक, ठंडक देने के साथ शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। असली ब्राह्मी की एक टहनी में कई सारे पत्ते होते हैं और इसके फूल सफ़ेद‌ व छोटे-छोटे होते हैं। ब्राह्मी के तने व पत्तियां मुलामय व गूदेदार होते है.ब्राह्मी को विटामिन और मिनरल का अच्छा स्रोत माना जाता है।  

बालों को मज़बूत व घना बनाने के साथ रूसी, दोमुंहे बाल, गंजापन और बालों को झड़ना भी रोकता है। त्वचा संबंधी बीमारियों में ब्राह्मी फ़ायदेमंद है. यह खून को साफ़ करने के साथ कफ़ को भी दूर करता है। गंजापन और बालों को झड़ना भी रोकता है। ब्राह्मी वटी स्वाद में कसैली, तीखी व ठंडी तासीरवाली बूटी है।

 ब्राह्मी जन्मजात तुतलाहट की बीमारी में भी फ़ायदेमंद है। ब्राह्मी वटी स्वाद में कसैली, तीखी व ठंडी तासीरवाली बूटी है। दिल की कमज़ोरी में इसका इस्तेमाल फ़ायदेमंद है। डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए भी ब्राह्मी उपयोगी है। यह त्रिदोष का नाश करने, आयु बढ़ाने,ब्राह्मी तेल आयुर्वेदिक तेल है, जिसे तिल के तेल या नारियल के तेल के साथ इस्तेमाल करना अधिक लाभदायक है। यह शुगर के लेवल को नियंत्रित करती है। ब्राह्मी का नियमित रूप से उपयोग करने से इम्युनिटी मज़बूत होती है।

दोस्तों, ब्राह्मी का प्रयोग कैसे करें?, ब्राह्मी का सेवन कब करना चाहिए? इसका उत्तर बारे ही आसान तरीकों से निचे लिखा गया है। तो चलिए जानते है की how to use brahmi leaves in hindi.


ब्राह्मी का उपयोग कैसे करें | how to use brahmi leaves in hindi


1. Brahmi benefits for skin in hindi – 

क्या आप  के ब्राह्मी झुर्रियों और सूजन को दूर करने में भी फ़ायदेमंद है। इसे बनाने के लिए ब्राह्मी के चूर्ण को पानी में मिलाकर एक पेस्ट बना लें और इसे चेहरे पर फेस पैक की तरह लगाएं। इससे चेहरा चमकउठने लगेंगे और सूजन भी कमहोने लगेंगे। 

2. Brahmi benefits for hair in hindi – 

बालों के गिरने की समस्या को दूर करने के लिए ब्राह्मी, आंवला, भृंजराज को एक साथ पीसकर मिश्रण बना लें और  इस मिश्रण को रातभर लोहे की कढ़ाई में रखें दें। फिर सुबह इस पेस्ट को बालों में लगाकर 10 से 15 मिनट तक रखें और फिर धो लें। हफ़्ते में दो बार ऐसा करने से बालों का गिरना बंद हो जाता है। 

3. Brahmi benefits for brain in hindi – 

ब्राह्मी के पत्तों को टेबलेट के रूप में बनाकर 1-1 टेबलेट सुबह-शाम दूध के साथ लेने से दिमाग़ मज़बूत होता है। 

4. Health Benefits of Brahmi in hindi – 

अगर आप मानसिक व शारीरिक ताक़तबढ़ाना चाहते है तो 10 -10 ग्राम ब्राह्मी, खसखस, सौंठ, सूखा साबुत धनिया और गोखरू, ५-५ ग्राम त्रिफला, ३ ग्राम बादामगिरी, शतावर और अश्वगंधा को कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। अब 3-3 ग्राम चूर्ण को सुबह-शाम दूध में मिलकर लेें. इससे आंखों की रोशनी भी बढ़ती है और साथ ही चश्मे के नंबर में भी कमी आती है।

5. ब्राह्मी शरीर में मौजूद अतिरिक्त पानी को निकालकर water retention, kidney, stone अदि बीमारियों से छुटकारा दिलाने में भी कारगर साबित होती है। 

6. मिर्गी जैसी बिमारियों को ठीक करने के लिए आप ब्राह्मी का सेवन कर सकते है। 

7. ब्राह्मी में रक्‍त शुद्ध करने के गुण पाए जाने के कारन स्कीन संबंधी बीमारियां ठीक करने में भी मदद मिलती है। 

8. इसके अलावा चिंता और तनाव होने पर ब्राह्मी के पौधे की पत्तियों को भी चबाया जा सकता है.

9. ब्राह्मी के रस में Antioxidant और adaptogenic होते हैं, जिसके प्रभाव से asthma, bronchitis जैसी सांस संबंधी बीमारियां ठीक होती हैं।

how to use brahmi leaves in hindi

10. गठिया की समस्या से निजात पाने के लिए ब्राह्मी के पत्‍ते के रस को पेट्रोल के साथ मिलाकर लगा सकते है।

11. सिरदर्द, पीठदर्द, मांसपेशियों में दर्द होने पर ब्राह्मी तेल से हल्का मसाज करने से राहत मिलती है। 

12. निमोनिया से बचने के लिए छाती और गर्दन पर ब्राह्मी का पेस्ट बनाकर लगा सकते है। 

13. आप ब्राह्मी का चाय‌ बनाकर भी पि सकते है। ब्राह्मी का चाय बेहद फ़ायदेमंद होता है। ब्राह्मी चाय‌ बनाने के लिए ब्राह्मी के पांच से सात पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। 

14. तनाव में राहत  लिए ५-५ ग्राम ब्राह्मी व शंखपुष्पी, 3 ग्राम इलायची के दाने, 6 ग्राम खसखस, 6 ग्राम बादामगिरी सभी को मिलाकर पीस लें और इसे ठंडई की तरह पिले। इससे तनाव से रहत मिलेगा। 

15. अगर आपको नींद न आने की problem है, तो  ब्राह्मी के ५ ग्राम चूर्ण को आधा लीटर दूध में उबालकर छानकर लें और  ठंडाकरलें। अब ये पिने के लिए तैयार है। इसे पीने से अनिद्रा और पुरानी नींद न आने की समस्या भी दूर होती है। 

16. ब्राह्मी तेल आयुर्वेदिक तेल है, जिसे तिल के तेल या नारियल के तेल के साथ इस्तेमाल करना अधिक लाभदायक है। 

यह भी पढ़े:

1. how to get rid of hard skin on feet quick at home

2. kaise hum aasan upay se apna weight kam kar sakte ha

3apne daily beauty routine me pumpkin ko use kaise karen

4. how can i get rid of dark circles and pigmentation at home in hindi


मुझे आशा है कि Maliks Beauty Tips में लिखे गए आज का यह लेख how to use brahmi leaves in hindi आपको अच्छा लगा होगा। अगर आपको जानकारी उपयोगी लगी हो, तो कृपया इसे अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ share करें!

THANK YOU.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.